बैंकों का 19 हजार लोगों पर 200 करोड़ रुपये बकाया, डीएम ने कारवाई करने का दिया आदेश

Patna: प्रधानमंत्री रोजगार योजना समेत अन्य योजनाओं के तहत जिले के 19,376 लोगों पर बैंकों का 202.44 करोड़ रुपये बकाया होने का मामला सामने आया है। मंगलवार को यह बात डीएम मो. सोहैल की अध्यक्षता में आयोजित डीएलसीसी व डीआरसीसी की बैठक में सामने आयी। इस दौरान डीएम ने कहा कि प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना, शहरी जीविका मिशन, मत्स्य व मुर्गी पालन, शिक्षा वितरण आदि में लापरवाही बरदाश्त नहीं की जायेगी।

तो वहीं इस पर डीएम ने कहा कि आम लोगों को आसान व सरल बैंकिंग सुविधा उपलब्ध कराने को लेकर माह के अंत तक जिले में 500 ग्राहक सेवा केंद्र (सीएसपी) खोले। बैठक में इसके अलावा एसीपी उपलब्धि, कर्मचारी भविष्य निधि, वार्षिक योजन, डेयरी, गृह ऋण आदि की समीक्षा की गयी। इस बैठक में सांसद प्रतिनिधि, विधायक व विधायक प्रतिनिधि, एलडीएम डॉ एनके सिंह, डीपीआरओ कमल सिंह सहित आरबीआइ व विभिन्न बैंकों के प्रतिनिधि मौजूद थे।

आपको बता दें कि इस मामले पर डीएम ने नाराजगी जताते हुए नीलामी में तेजी लाने का निर्देश दिया। प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना में संतोषजनक उपलब्धि नहीं होने पर डीएम ने 15 दिन के अंदर लंबित आवेदन पर कारवाई करने का निर्देश दिया। जहां 270 आवेदन के विरूद्ध अब तक 12 आवेदन स्वीकृत हुए हैं। वहीं बढ़ते प्रदूषण व रिक्शा चालकों की दयनीय स्थिति देखते हुए जरूरमंद को ई-रिक्शा लोन के लिए कैंप लगाने को कहा है।

साथ ही सितंबर माह तक जिले के बैंकों में कुल जमा राशि 14447.41 करोड़ व ऋण की राशि 6734.29 करोड़ है। जो बैंकों के ऋण जमा अनुपात का 46.61 प्रतिशत है। बैठक में जिला मत्स्य पदाधिकारी व जिला कृषि पदाधिकारी अनुपस्थित रहे। इस पर मत्स्य पदाधिकारी के वेतन बंद करने व कृषि पदाधिकारी से स्पष्टीकरण पूछा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *