अभी-अभी : सीट शेयरिंग पर लोजपा नेता के बिगड़े बोल, कहा-हमें पहले से अधिक सीट चाहिए

PATNA : अभी अभी एक बड़ी खबर सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि सीट शेयरिंग पर उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी रालोसपा के बाद रामविलास पासवान की पार्टी ने भी मोर्चा खोल दिया है। इस बयान के बाद बिहार की राजनीतिक गलियारों में जहां एक ओर बवाल मचा हुआ है। वहीं दूसरी ओर दबी जबान से लोग कह रहे हैं कि एनडीए में ऑल इज वेल नहीं है।

ताजा अपडेट के अनुसार लोक जनशक्ति पार्टी ने एनडीए में सीट शेयरिंग हो जाने के दावे को हवा-हवाई करार दिया है। गुरुवार को लोजपा के प्रदेश अध्यक्ष और पशु व मत्स्य संसाधन मंत्री पशुपति कुमार पारस ने कहा कि सीट शेयरिंग को लेकर अभी सिर्फ अटकलें लगाई जा रही हैं। जमीन पर कुछ भी नहीं है। जब तक भाजपा, जदयू, लोजपा और आरएलएसपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और प्रदेश अध्यक्ष एक साथ नहीं बैठते हैं तबतक सीटों पर समझौते की बात करना भी बेमानी है।  वर्ष 2014 के मुकाबले बिहार में लोजपा का जनाधार बढ़ा है। लिहाजा हमारी भागीदारी पिछली बार से ज्यादा होनी चाहिए। हम सिर्फ 7 सीटों पर नहीं मानने वाले हैं। हमें अधिक सीटें मिलनी ही चाहिए। पारस ने कहा कि लोक आस्था के महापर्व छठ के बाद सारे मसले सुलझा लिए जाएंगे।

चिराग पासवान ने तोड़ी चुप्पी,बोले- सम्मानजनक समझौता चाहती है लोजपा : एलजेपी सांसद और पार्टी के संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष चिराग पासवान ने कहा है कि एनडीए में उनकी पार्टी को सम्मानजनक सीटें चाहिए। सांसद चिराग पासवान ने कहा कि एनडीए में पहले घटक दलों के बीच सीट बंट जाए, उसके बाद भाजपा और जदूय आपस में 50-50 कर ले। पटना में रविवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि हम भाजपा-जदयू के फैसले का स्वागत करते हैं। चिराग ने कहा कि संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष के नाते मैं 7 से ज्यादा सीट चाहूंगा लेकिन फिलहाल हम गठबंधन में हैं और इसमें गठबंधन धर्म भी निभाना होता है।  पार्टी भाजपा के साथ मजबूती से खड़ी है और आगे भी एनडीए में रहेगी।

लोजपा राजग में सम्मानजनक हिस्सा चाहती है.” चिराग ने कहा कि पिछले लोकसभा चुनाव के समय लोजपा को सात सीटें मिली थीं जिनमें से छह पर पार्टी ने जीत हासिल की थी। नीतीश कुमार के एनडीए में शामिल होने को लेकर चिराग ने कहा कि उनके आने से एनडीए मजबूत हुआ है। 2019 में इसका फायदा मिलेगा।

Bicky

मैं बिकेश्वर त्रिपाठी जन्म कोलकाता जीवन से मिले अनुभवों और ठोकरों से विकसित हुए नजरिए की कसौटी पर कसकर, वर्तमान मुद्दों पर आपसे अपनी बात लाइव बिहार के माध्यम से साझा करता रहूंगा |