पटना में CNG पर चलेगी गाड़ियां, मुख्यमंत्री ने कैबिनेट बैठक में योजना को दी मंजूरी

PATNA:  बिहार में गाड़ी चलाने वालों के लिए एक बड़ी खबर सामने आयी है। हो सकता है की, आपके गाड़ी चलाने का खर्च पहले से थोड़ा काम हो जाए। दरअसल, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में बिहार कैबिनेट की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में कुल ग्यारह एजेंडों पर मोहर लगाए गए। लेकिन इस कैबिनेट बैठक में एक ऐसा फैसला हुआ, जो आपके चेहरे पर मुस्कान ला सकती है।

दरअसल, इस बैठक में पटना में अब सीएनजी से गाड़ी चलाने का फैसला हुआ है। इसके लिए फुलवारी में सीएनजी प्लांट लगाया जाएगा। वहीँ खबर यह भी है की, इसके लिए ज़मीन आवंटित भी कर दी गयी है। GAIL कंपनी राजधानी पटना में सीएनजी स्टेशन बनाएगी। इस फैसले का कारण ये है की, पटना में धीरे धीरे प्रदुषण की मात्रा लगातार बढ़ रही है, जिससे सरकार की सांसे फूल रही है। इसी को ध्यान में रखते हुए अब सरकार ने परिवहन विभाग में नया संवर्ग बनाने को भी मंजूरी दी है। जानकारी के मुताबिक़ परिवहन विभाग का अब अपना चलन सिपाही दस्ता होगा।

यह चलन सिपाही दस्ता अवैध गतिविधियों पर नकेल कसने के साथ ही, ओवरलोडिंग पर लगाम लगाएगा। और जनता से जुड़ी व्यवस्था को चाक चौबंद रखने के लिए काम करेगा। परिवहन विभाग के टैक्स वसूली में भी यह टीम मदद करेगी। सूचनाओं की माने तो मौजूदा दौर में चलन सिपाही दस्ते में सिपाहियों की संख्या बेहद ही कम है। सिपाहियों के 35 पद स्वीकृत है। जिसमे की 31 पद खाली पड़े हैं। मंत्रिमंडल के द्वारा नयी नियमावली की स्वीकृति होने से 3000 सिपाहियों के पद बहाल किये जाएंगे।

इस नए आदेश से मन जा रहा है की पटना शहर और इसके आसपास में प्रदुषण काम हो सकता है। मंत्रिमंडल ने गैस अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया के प्रस्ताव के बाद राज्य परिवहन निगम की फुलवारी शरीफ़ केंद्रीय कर्मशाला में सीएनजी स्टेशन की स्थापना के लिए GAIL को तकरीबन एक एकड़ ज़मीन देने सम्बंधित प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। अब देखना ये है की, मुख्यमंत्री के इस फैसले से प्रदुषण कितना कम होता है। मगर एक बात है की, तेल की कीमतों से हमारी जेब पे बढ़ने वाला बोझ थोड़ा कम हो पाएगा।