UP में प्लास्टिक और थर्माकोल से बने कप, प्लेट बर्तनों पर लगा बैन, इस्तेमाल किया तो होगी जेल

New Delhi: प्लास्टिक के इस्तेमाल पर रोक लगने के बाद योगी आदित्यनाथ एक और बड़ा फैसला लिया है। अब सिर्फ प्लास्टिक ही नहीं  उत्तर प्रदेश में थर्माकोल से बने कप, प्लेट और बर्तनों के इस्तेमाल पर भी बैन लगा दिया गया है। ये अहम फैसला स्वतंत्रता दिवस यानि 15 अगस्त से लागू हो गया है।

जानकारी के मुताबिक, जो लोग बैन की गई सामग्री का इस्तेमाल करते हैं उनकी तुलना में इन सामानों को बेचने वाले लोग पर सजा का कठोर प्रावधान है। प्रतिबंध के बाद पॉलीथीन का प्रयोग करने पर कड़ी सजा का प्रावधान किया गया है। इस संबंध में पेश किए गए अध्यादेश को भी मंजूरी दी जा चुकी है। इन बैन सामानों के इस्तेमाल या बेचने पर पहली बार उल्लंघन किया गया तो सजा या न्यूनतम एक हजार और अधिकतम 10 हजार रुपए तक जुर्माना लगाया जाएगा। दूसरी बार उल्लंघन करने पर 6 महीने की जेल या न्यूनतम 5 हजार व अधिकतम 20 हजार रुपए तक जुर्माना देना होगा।

पहले 15 जुलाई को प्रदेश में 50 माइक्रॉन से कम की पॉलीथीन के इस्तेमाल पर बैन लगाया गया था। जिसको लेकर अध्यादेश भी जारी किया गया था। बता दें कि प्लास्टिक बैन को तीन चरणों पर प्लास्टिक बैन की योजना बनाई गई है। 15 जुलाई से सिर्फ 50 माइक्रॉन तक के पॉलिथीन व उससे बने कैरीबैग पर प्रतिबंधित करने का फैसला किया गया था। दूसरे चरण में 15 अगस्त से प्लास्टिक व थर्माकोल से बनी थाली, कप, प्लेट, कटोरी, गिलास आदि के प्रयोग को बैन किया गया। तीसरे चरण में 2 अक्टूबर से प्रदेश में ऐसे सभी तरह के प्लास्टिक को बैन किया गया जो डिस्पोजेबल नहीं हैं।

इस फैसले के बाद पॉलिथीन पर प्रतिबंध लगाने वाला यूपी देश का 19वां राज्य हो गया है। भंडारण और परिवहन पर लगे प्रतिबंध का पहली उल्लंघन करने पर छह माह की जेल या न्यूनतम 10 हजार व अधिकतम 50 हजार तक का जुर्माना देना होगा। दूसरी बार उल्लंघन पर एक वर्ष तक की सजा एवं न्यूनतम 10 हजार व अधिकतम एक लाख रुपये तक का जुर्माना देना होगा।

Bicky

मैं बिकेश्वर त्रिपाठी जन्म कोलकाता जीवन से मिले अनुभवों और ठोकरों से विकसित हुए नजरिए की कसौटी पर कसकर, वर्तमान मुद्दों पर आपसे अपनी बात लाइव बिहार के माध्यम से साझा करता रहूंगा |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *