पायलट की ड्यूटी खत्म होने के कारण रात भर विमान में बैठे रहे यात्री

QUAINT MEDIA

Patna: कोलकाता से पटना आनेवाली स्पाइसजेट की फ्लाइट SG377 देर रात खराब मौसम के कारण वाराणसी डायवर्ट कर दी गयी। जहां मौसम तो दो घंटे बाद ठीक हो गया, लेकिन पायलट का ड्यूटी टाइम समाप्त होने के कारण विमान में सवार यात्रियों को रात भर वाराणसी एयरपोर्ट पर विमान के अंदर ही बैठना पड़ा।

तो वहीं जब रविवार की सुबह 10:30 बजे नये पायलट की व्यवस्था हुई और विमान में सवार यात्रियों को दोपहर 12 बजे पटना एयरपोर्ट पर लाया गया। जानकारी के अनुसार विमान में 72 यात्री सवार थे। उनमें से कई ने पटना पहुंचने के बाद बताया कि इस दौरान एयरलाइन के कर्मियों का व्यवहार बहुत रुखा था। रात भर उन्हें न तो फूड पैकेट दिया गया और न ही चाय-काफी या पानी के लिए पूछा गया। बैठे-बैठे जब कई यात्रियों की तबीयत बिगड़ने लगी, तो हंगामे के बाद सुबह आठ बजे में उन्हें चाय-काफी और स्नैक्स मिला।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar, Live India

डायवर्ट होने वाली स्पाइसजेट की फ्लाइट कोलकाता से ही छह घंटे देर से उड़ी। फ्लाइट का डिपार्चर टाइम शाम 6:15 बजे था, जिसे पहले बढ़ा कर शाम 7:25 किया गया। फिर रात 10 बजे और 11 बजे किया गया। अंत में 12 बजे रात में यह कोलकाता से रवाना हुई। रात एक बजे जब यह फ्लाइट पटना पहुंची तो आंधी और बारिश के कारण पटना का मौसम लैंडिंग के अनुकूल नहीं था। पहले प्रयास के असफल होने के बाद कुछ देर तक आसमान में चक्कर लगाकर पटना एयरपोर्ट पर उतरने का एक प्रयास और किया, लेकिन रनवे नहीं दिखने के कारण वह प्रयास भी असफल रहा और विमान में ईंधन के खत्म होने जाने की बात कह कर फ्लाइट को बनारस डायवर्ट कर दिया गया, जहां रात दो बजे में यह लैंड हुई।

जिसके बाद मामले की अनिश्चितता देख ज्यादातर यात्रियों ने विमान से बाहर जाने से मना कर दिया। एक बुजुर्ग यात्री ने बाहर करने पर वही पार्किंग बे में लेटने की धमकी दी तो यात्रियों को उनके हाल पर छोड़ एयरलाइन के कर्मी किनारे हो गये। आखिरकार यात्रियों के दबाव पर सुबह 10:45 में उसी विमान को फ्लाइट संख्या SG9377 बना कर पटना लाया गया और दोपहर 12 बजे पटना एयरपोर्ट पर पहुंचकर यात्रियों ने राहत की सांस ली।