नेपाल में गन्ना बेच सकेंगे भारतीय किसान, कृषि मंत्रालय ने दी मंजूरी

MADHUBANI : जयनगर में गन्ना किसानों के लिए शनिवार की शाम को अच्छी खबर आई। यहां के किसान सकरी और लौहट, रैयाम में चीनी मिल बंद हो जाने के बाद से नेपाल की चीनी मिल को गन्ना बेचते थे। इस वर्ष नेपाल के सिरहा स्थित हिमालय सुगर मिल ने गन्ना खरीदने से मना कर दिया था। इसके लिए उन्होंने नेपाल सरकार के कृषि मंत्रालय से स्वीकृति नहीं मिलने की बात कही गई थी।

 

इसका परिणाम यह हुआ कि अनुमंडल प्रशासन ने मामले पर संज्ञान लेते हुए जिला प्रशासन काे वस्तु स्थिति से अवगत कराया। इसके बाद जिला प्रशासन ने पहल करते हुए नेपाल सरकार से बात शुरू की। वार्ता लंबी होने के कारण व तैयार फसल खेतों में बर्बाद होते देख किसानों ने दो दिनों तक जयनगर स्थित ईख से लदे ट्रैक्टर से कमला ब्रिज को जाम कर दिया था।

NEPAL

डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने बॉर्डर क्षेत्र के किसानों की समस्याओं को जल्द सुलझाने को लेकर विभागीय अधिकारियों से लेकर मंत्रालय तक सम्पर्क स्थापित कर इस दिशा में मजबूती के साथ पहल शुरू की। इसके बाद शनिवार की शाम को नेपाल के कृषि मंत्रालय ने जयनगर के किसानों से गन्ना खरीदने की मंजूरी दे दी। लगन देव हजरा, देवेंद्र प्रसाद यादव, मुखिया मदन यादव, मुखिया उमेश यादव, सरपंच सतन यादव, राम दास हजरा, पप्पू चौड़वार, सुधीर यादव समेत कई किसानों ने दैनिक भास्कर की पहल की सराहना की है।