बिहार के महागठबंधन में सीट शेयरिंग पर अभी और मंथन होना बाकी, अटकी रही बात

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar, live india

Patna: बिहार में महागठबंधन के सीटों के बंटवारे पर दिल्ली में हुई बैठक को जीतनराम मांझी ने बीच में ही छोड़ दिया। उधर विकासशील इंसान पार्टी की ओर से मुकेश सहनी ने कहा है कि वे चुनाव नहीं लड़ेंगे। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि आखिर बात कहां अटकी है।

दरसल दिल्ली में महागठबंधन के सीटों के बंटवारे पर महामंथन की बैठक को जीतनराम मांझी ने बीच में ही छोड़ दिया। वहीं विकासशील इंसान पार्टी की ओर से मुकेश सहनी ने कहा है कि वे चुनाव नहीं लड़ेंगे। इसी बीच यह भी कहा जा रहा है कि 16 मार्च यानि शनिवार को गठबंधन दल के कुछ नेता लालू प्रसाद से मुलाकात करेंगे। जाहिर है गठबंधन के भीतर अभी भी खींचतान है और सीट शेयरिंग पर अभी और मंथन होना बाकी है। सवाल उठ रहा है कि आखिर बात कहां अटकी है। तो आइए एक नजर डालते हैं उन सीटों पर जहां पेच फंसा हुआ है।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd, archives Live Bihar Live India

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जीतन राम मांझी चाहते हैं कि उन्हें गया, औरंगाबाद और नालंदा की सीटें मिले। इतना ही नहीं उन्होंने ये भी कहा कि महागठबंधन में उनकी भूमिका तीसरे सबसे बड़े दल की हो। यानि किसी भी हालत में आरएलएसपी से एक सीट अधिक चाहते हैं मांझी। वहीं मुजफ्फरपुर सीट पर भी वह दावेदारी ठोक रहे हैं।

दूसरी ओर विकासशील इंसाफ पार्टी यानि VIP के प्रमुख मुकेश साहनी ने भी साफ कहा है कि वे चुनाव नहीं लड़ने जा रहे हैं। जाहिर है उनकी भी नाराजगी सामने आ गई है। वे चाहते हैं कि मुजफ्फरपुर और दरभंगा सीट उन्हें मिले। इसके अलावा वे एक सीट और चाहते हैं। जबकि पेच ये है कि कांग्रेस कीर्ति झा आजाद को दरभंगा से मैदान में उतारनी चाहती है। वहीं औरंगाबाद सीट, जो कांग्रेस की परम्परागत सीट मानी जाती है उसे भी वह छोड़ना नहीं चाहती है।

तीसरा पेच आरजेडी में भी फंसा हुआ है। यहां अशरफ अली फातमी दरभंगा से लड़ना चाहते हैं। हालांकि उन्हें फिलहाल मधुबनी से खड़ा करने की चर्चा चल रही है। लेकिन यहां आरजेडी के ही अब्दुल बारी सिद्दीकी चुनाव लड़ना चाहते हैं। जाहिर है पेच फंसा हुआ है। पूर्वी चम्पारण सीट पर भी तीन दावेदार सामने आ रहे हैं। आरएलएसपी से माधव आनंद, आरजेडी से विनोद श्रीवास्तव, वीआईपी से मुकेश सहनी की वीआईपी टिकट चाह रही है। जबकि बेगूसराय में भी आरजेडी और सीपीआई के बीच पेच फंसा हुआ है।