मांझी बोले-महागठबंधन में नहीं हो सकती रामविलास की एंट्री, वे सिगरेट की आखिरी कश का लेेते हैं मजा

Live Bihar Desk : पूर्व मुख्यमंत्री और हिन्दुस्तान आवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतनराम मांझी ने लोजपा अध्यक्ष रामविलास पासवान को लेकर बड़ा बयान दिया। उन्होंने कहा कि रामविलास पासवान की महागठबंधन में एंट्री नहीं हो सकता है। उनके यहां आने से महागठबंधन को कोई फायदा नहीं होने वाला है। उन्होंने कहा कि रामविलास पासवान के महागठबंधन में आने का वह व्यक्तिगत रूप से विरोध करेंगे।

मांझी ने अाज बिहार सरकार के कामकाज के खिलाफ रिपोर्ट कार्ड जारी कर सरकार की विफलताओं को उजागर किया। उन्होंने कहा कि तेजस्वी का अपना व्यक्तिगत विचार हो सकता है कि रामविलास महागठबंधन में आएं। मांझी ने कहा कि रामविलास का दलितों से कोई लेना-देना नहीं है। उनके बेटे चिराग कुछ बोलते हैं और रामविलास कुछ बोलते हैं। एेेसे में उनकी मंशा क्या है? नहीं मालूम।

मांझी ने कहा कि रामविलास पासवान को दो अप्रैल को ही इस्तीफा देना चाहिए था। उन्हें कहना चाहिए था कि केंद्र सरकार एससी-एसटी के साथ अच्छा नहीं कर रही है। इसलिए वह भारत सरकार के साथ नहीं हैं। एससी-एसटी के साथ अन्याय किया गया है। उन्होंने कहा कि तीन तलाक, पॉक्सो एक्ट जैसे मामले में सरकार तुरंत अध्यादेश लेकर आई। मगर एससी-एसटी एक्ट में एेसा नहीं कहा गया। केंद्र सरकार की गलती के कारण ही उच्च न्यायालय ने ऐसा फैसाल दिया।

इस दौरान जीतन राम मांझी ने नीतीश के नेतृत्व में एनडीए सरकार का एस साल पूरा होने पर  रिपोर्ट कार्ड जारी किया।  रिपोर्ट कार्ड में नीतीश कुमार के एक साल के शासन काल में हुए अपराध की पूरी जानकारी दी गई है। इस लड़कियों के खिलाफ अपराध, बिहार में हुई हत्याओं पूरा आंकड़ा दिया गया है। सत्ता संरक्षित अपराधों का भी इस रिपोर्ट कार्ड में जिक्र किया गया है। शराबंबदी से आम लोगों की कितनी परेशानी हुई इसकी भी जानकारी दी गई है। इसके अलावा नीतीश कुमार के सात निश्चयों की भी खामियां निकाली गई है।

Bicky

मैं बिकेश्वर त्रिपाठी जन्म कोलकाता जीवन से मिले अनुभवों और ठोकरों से विकसित हुए नजरिए की कसौटी पर कसकर, वर्तमान मुद्दों पर आपसे अपनी बात लाइव बिहार के माध्यम से साझा करता रहूंगा |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *