पटना हाईकोर्ट को मिले छह और स्थायी जज, चीफ जस्टिस ने दिलायी शपथ

QUAINT MEDIA

Patna: सोमवार को पटना हाईकोर्ट के मार्बल हॉल में हाईकोर्ट के आधा दर्जन एडिशनल जज ने स्थायी जज के रूप में शपथ ली। जहां इस आयोजित समारोह में चीफ जस्टिस एपी शाही ने जस्टिस डॉ अनिल उपाध्याय, जस्टिस राजीव रंजन प्रसाद, जस्टिस मोहित शाह, जस्टिस पीसी जायसवाल, जस्टिस संजय कुमार, जस्टिस मधुरेश प्रसाद को शपथ दिलायी।

इस मौके पर जस्टिस डॉ। अनिल कुमार उपाध्याय ने पुराने दिनों को याद करते हुए बताया कि हम सभी तब एक ही कक्षा के छात्र थे। उस समय न कोई सीनियर था और न कोई जूनियर। लेकिन अब हाईकोर्ट में कोई सीनियर जज है तो कोई जूनियर। जस्टिस प्रभात कुमार झा और जस्टिस वीरेंद्र कुमार न्यायिक सेवा में चले गए। शेष पांच हाईकोर्ट में वकालत करते रहे। लेकिन, समय बदलता गया और एक ऐसा अवसर आया जब सातों फिर एक साथ हो गए। साथ ही जस्टिस उपाध्याय ने बताया कि इस बात की जानकारी हम सात के अलावा और किसी को नहीं थी। पटना लॉ कॉलेज एलुमनी एसोसिएशन के एक कार्यक्रम में पहली बार जस्टिस दिनेश कुमार सिंह ने इस बात का खुलासा किया।

QUAINT MEDIA

आपको बता दें कि अब पटना हाईकोर्ट में पटना लॉ कॉलेज के 1986 बैच के छात्रों में सात छात्र जज हैं। ये सभी अलग-अलग समय में हाईकोर्ट में जज बने हैं। इनमें पांच अधिवक्ता कोटे से जज बने हैं, जबकि दो न्यायिक कोटे से जज बने हैं। मालूम हो कि जस्टिस ज्योति सरन, जस्टिस दिनेश कुमार सिंह, जस्टिस विकास जैन, जस्टिस अंजना मिश्रा, जस्टिस प्रभात कुमार झा, जस्टिस वीरेंद्र कुमार और जस्टिस डॉ अनिल कुमार उपाध्याय पटना लॉ कॉलेज से लॉ की परीक्षा पास करने के बाद अधिवक्ता बने थे।