गांधी सेतु के पश्चिमी लेन पर 2019 से दौड़ने लगेगी गाड़ियां, सुपर स्ट्रक्टर बनकर हो जाएगा तैयार

Live Bihar Desk : महात्मा गांधी सेतु के मरम्मत का काम काफी तेजी से हो रहा है। अनुमान लगाया गया है कि अलगे साल जून से सेतु के पश्चिमी लेन का सुप स्ट्रक्टर बनकर तैयार हो जाएगा और इस पर गाड़ियां भी दौड़ने लगेंगी। सुपर स्ट्रक्टर का निर्माण कार्य शुरू भी हो गया है। बताया जा रहा है कि चेन्नई, गाजियाबाद, कोलकात और रायपुर सुपर स्ट्रक्टर का निर्माण कार्य जारी है। इसे पार्ट वाइज हाजीपु स्थित निर्माण एजेंसी एफकॉन्स के साइट पर पहुंचाया जा रहा है।

अभी बारिश के मौसम के खत्म होने का इंतजार किया जा रहा है। अक्टूबर से गांधी सेतू पर लोहे के सुपर स्ट्रक्चर की लांचिंग शुरू हो जाएगी। सबकुछ ठीक रहा तो अगले साल जून से पश्चिमी लेन गर गाड़ियों दौड़नी शुरू हो जाएगी। निर्माण एजेंस एफकॉन्स अलगे साल जुलाई तक गांधी सेतु पर 22 चक्के वाले भारी वाहनों को दौड़ाने की योजना पर काम कर रही है। एजेंसी ने आला अधिकारियों को अप्रैल तक काम पूरा करने को कहा है। ऐसा करने पर उन्हें इंसेंटिव दिया जाएगा।

एफकॉन्स ने गांधी सेतु के 3.6 किलोमीटर तक पहले से बने सीमेंटेड सुपर स्ट्रक्चर को काट कर अलग कर दिया है। आगे के स्ट्रक्चर को काटने का काम काफी तेजी से चल रहा है। बारिश का मौसम होने के कारण गंगा नदी में पानी बढ़ गया है। ऐसे में बड़े-बड़े जहाज (बार्ज) को मंगवाया गया है। इससे नदी में उफान के दौरान भी काम पर कोई असर नहीं पड़ेगा। अनुमान के मुताबिक सबकुछ ठीक रहा तो तीन-चार महीने में बाकी हिस्से को भी काट लिया जाएगा। लोहे के सुपर स्ट्रक्चर की लांचिंग के लिए 1 से 10 नंबर पाया तक पिलर का निर्माण भी किया जा रहा है। इससे अक्टूबर से लांचिंग में किसी तरह की बाधा नहीं रहेगी। बरसात के दौरान किसी तरह की परेशानी आने पर मेरिन इंजीनियरों की सेवा ली जाएगी।

पश्चिमी लेन चालू होने के बाद अगले साल जुलाई से पूर्व लेन को भी तोड़ने का काम शुरू हो जाएगा। अनुमान है कि 2020 तक पूर्वी लेन में भी लोहे का सुपर स्ट्रक्टर बिछा दिया जाएगा। वहीं 2021 तक पटनावासियों को जर्जर गांधी सेतु की जगह एक नया गांधी सेतु बना हुआ दिखाई देगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *