दिनकर के बिना अधूरा है हिंदी साहित्य, ‘ए मनु तेरा मनुहार हूं, सिमरिया घाट का भूमिहार हूं’

PATNA : आज राष्ट्रकवि दिनकर की जयंती है। दिनकर जो हिंदी साहित्य में आज भी सूर्य की तरह अपनी आभामंडल में शब्दों के माध्यम से व्याप्त हैं। दिनकर का जन्म बिहार …

Read More