तेजस्वी की जनसभा में लगे PM मोदी जिंदाबाद के नारे, जमकर हुई मारपीट

quaint media

PATNA : दरभंगा जिला के सदर प्रखंड के लोआम गांव स्थित गंगा भगत मेमोरियल ग्राउंड में आयोजित ‘बेरोजगारी हटाओ एवं आरक्षण बढ़ाओ’ रैली में तेजस्वी के संबोधन से पहले मारपीट करते लोग। जीवछ घाट से सटे लोआम खेल मैदान में उस वक्त अफरातफरी मच गई जब कुछ मिनटों बाद ही ‘बेरोजगारी हटाओ, आरक्षण बढ़ाओ’ जनसभा में शिरकत करने पहुंचने वाले थे नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव। भीड़ से पटे मैदान में मंच के कुछ ही दूरी पर खड़े एक युवक ने पार्टी विरोधी व मोदी जिंदाबाद के नारे लगाने लगे। इसी बीच मौके पर मौजूद लोगों ने उक्त युवक को पकड़ भीड़ से बाहर मंच से पीछे फसल लगे खेतों की ओर ले गए। जहां लप्पड़-थप्पड़ जड़ धुनाई भी हुई। यह सब देख मौके पर पुलिस मूकदर्शक तो बनी रही। परंतु जनसभा के अग्रिम पंक्ति में मचते अफरातफरी देख पुलिस बीच-बचाव करती नजर आयी। हालांकि, स्थानीय लोगों ने उक्त युवक को खेतों के रास्ते दूर ले जाकर मौके से भागने को कही। भालपट्टी ओपी अध्यक्ष धीरज कुमार ने बताया कि मोदी नारा या अन्य बात पर मारपीट की जानकारी नहीं है। सभा स्थल से दूर वहां दो कार्यकर्ता में मोबाइल फोन को लेकर हल्की मारपीट हुई।

मुजफ्फरपुर बालिका सुधार गृह कांड की निष्पक्ष जांच की जाए, तो कई और मंत्री फंसेंगे : नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि मुजफ्फरपुर बालिका सुधार गृह कांड पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार चुप्पी साधे हुए हैं। इस कांड की एक मात्र गवाह को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने करीबी के संरक्षण में मधुबनी भेज दिया, जहां से वो गायब है। अगर इसकी निष्पक्ष जांच हो तो कई और मंत्री फंसेंगे है। साथ ही उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गरीब सवर्णों को सरकारी नौकरी में 10 फीसद आरक्षण की घोषणा कर इन्हें ठगने का काम किया। राजद सवर्णों के आरक्षण का विरोधी नहीं है। इसकी आड़ में जरूरतमंदों के आरक्षण को समाप्त करने की साजिश का पुरजोर विरोध करता है। ये बातें गुरुवार को सदर प्रखंड के लोआम गांव स्थित गंगा भगत मेमोरियल ग्राउंड में आयोजित ‘बेरोजगारी हटाओ एवं आरक्षण बढ़ाओ’ रैली में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कही। रैली को तेजस्वी यादव ने कुल 26 मिनट 33 सेकेंड तक संबोधित किया। उन्होंने केंद्र और राज्य सरकार पर एक साथ हमला बोला। इस दौरान कई बार नारे भी लगे।

देश की जनता परिवर्तन का मूड बना चुकी है : रैली में पूर्व केंद्रीय मंत्री मो. अली अशरफ फातमी ने कहा कि मंडल कमीशन को लालू प्रसाद यादव ने समर्थन दिया था। पूर्व मंत्री अब्दुल बारी सिद्दीकी ने कहा कि देश की जनता ने परिवर्तन का मूड बना लिया है। वहीं विधायक ललित यादव ने बताया कि अगर केंद्र में गठबंधन की सरकार आती है तो बिहार में भी सत्ता परिवर्तन हो जाएगा। मुकेश सहनी ने कहा हमारी विचारधारा और लालू की विचारधारा एक है। इसलिए गठबंधन में है। रैली को पूर्व केंद्रीय मंत्री मो. अली अशरफ फातमी, पूर्व मंत्री अब्दुल बारी सिद्दीकी, विधायक भोला यादव, विधायक ललित यादव, विधायक डॉ. फराज फातमी, विधायक अख्तरुल इस्लाम, आलोक मेहता आदि ने संबोधित किया।

उन्होंने एक संस्था का हवाला देते हुए कहा कि देश में बेरोजगारी की दर पिछले 40 साल में सबसे अधिक है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिस चुनावी वादों से जनता को लुभाकर सत्ता में आए थे, वे सभी जुमले निकल गए। प्रति साल 2 करोड़ बेरोजगारों को रोजगार मुहैया कराने का वादा किया गया था। यदि 2 करोड़ युवा पकौड़ा तलेंगे तो खरीदेगा कौन और खाएगा कौन? यही विकास का मॉडल है?

राजद ने कभी अपने सिद्धांतों से समझौता नहीं किया। यहीं कारण है कि लालू प्रसाद आज जेल में हैं। अगर हम भी भाजपा से हाथ मिला लेते तो आज परेशानी नहीं होती। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार समाजवाद की विचारधारा की जगह आरएसएस की नीति देशवासियों पर थोप रही है। तेजस्वी यादव ने मंच से युवाओं का आह्वान किया कि पलटू राम और फेकू राम की सरकार को उखाड़ फेंके।