हज यात्रियों का पहला जत्था गया एयरपोर्ट से मक्का-मदीना के लिए हुआ रवाना, रो पड़े रिश्तेदार

LIVE BIHAR DESK : देर शाम गया से हज यात्रियों का पहला जत्था रवाना हो गया है। इससे पहले फजर की नमाज के बाद शनिवार सुबह हज यात्रियों का पहला जत्था पटना से गया के लिए रवाना हुआ। एक साथ तीन बसों में करीब 150 यात्री सवार हुए। पटना से हज यात्रियों को विदा करने के लिए बड़ी संख्या में उनके परिजन हज भवन पहुंचे थे। परिजनों ने नम आंखों से अपनों को विदाई दी। जो हज न जा सके उन्होंने आजमीने हज से अपने लिए दुआ करने की अपील की।

बिहार से इस साल 4798 लोग हज करने जा रहे हैं। यात्रियों के लिए पटना के हार्डिंग रोड स्थित हज भवन में पूरे इंतजाम किए गए हैं। यहां लोगों के ठहरने से लेकर खाने-पीने तक की व्यवस्था की गई है। हज यात्रियों को गया ले जाने और वापस लाने के लिए एसी बसों की व्यवस्था की गई है। हज यात्रियों के साथ दो सरकारी पर्यवेक्षक मक्का-मदीना तक जाएंगे।


ऐसा पहली बार हो रहा है कि हज के लिए एक दिन में बिहार के गया से 4-4 फ्लाइट उड़ रही है। गया के डीएम अभिषेक सिंह ने बताया कि 14 जुलाई से 28 जुलाई तक हज यात्रियों के लिए एयर इंडिया की उड़ानें होंगी। 14 से 17 जुलाई तक एक- एक उड़ान, 18 से 20 व 22 जुलाई को दो-दो, 23 को तीन, 24 को दो, 25 को तीन, 26 को चार, 27 को पांच और 28 जुलाई को चार उड़ानें भरी जाएंगी।


गया इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर वाटरप्रूफ पंडाल का निर्माण कराया गया है। जिसमें हजयात्रियों के ठहरने की समुचित व्यवस्था की गयी है। महिला और पुरुष के लिए अलग-अलग आवासीय व्यवस्था की गई है। गया बॉर्डर से ही हजयात्रियों को रिसीव कर एयरपोर्ट तक लाया जा रहा है। गया और पटना जिला प्रशासन आपसी तालमेल बना कर पूरे व्यवस्था को अंजाम दे रहे हैं।


गौरतलब है कि 14 से 28 जुलाई तक आजमीन-ए-हज मक्का और मदीना के लिए उड़ान भरेंगे। इस वर्ष बिहार से कुल 4,798 आजमीन-ए-हज जाएंगे। कुल 5156 आवेदन आए थे। इनमें 362 आवेदनकर्ताओं ने विभिन्न कारणों से यात्रा स्थगित कर दी।