ब्रेकफास्ट नहीं तो डिनर टेबल तक बन जाएगी बात, जब नीतीश-शाह होंगे साथ-साथ

PATNA : बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के बिहार दौरे को अंतिम रूप दे दिया गया है। पटना पहुंचने के बाद शाह सीएम नीतीश कुमार के साथ सुबह का नाश्ता करेंगे तो रात का खाना भी उन्हीं के साथ खाएंगे। स्टेट गेस्ट हाउस में नाश्ते का प्रोग्राम रखा गया है जबकि रात के खाने का इंतजाम सीएम आवास पर होगा। इन मुलाकातों के दौरान माना जा रहा है कि लोकसभा चुनाव में सीट शेयरिंग को लेकर दोनों के बीच बातचीत भी होगी। सुबह के ब्रेकफास्ट नहीं तो रात होते-होते डिनर टेबल तक बात बन सकती है।


अमित शाह 12 जुलाई को सुबह 10 बजे पटना पहुंचेंगे वहां से स्टेट गेस्ट हाउस जाएंगे। एयरपोर्ट पर पार्टी के तमाम वरीय नेता उनके स्वागत के लिए मौजूद रहेंगे। स्टेट गेस्ट हाउस में वे सीएम नीतीश कुमार, डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी के अलावे पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ सुबह का नाश्ता करेंगे। दिन में वे पार्टी के बूथस्तर से लेकर विस्तारकों तक के साथ बैठक करेंगे। रात में मुख्यमंत्री आवास पर नीतीश कुमार व अन्य नेताओं के साथ भोजन करेंगे। अमित शाह बापू सभागार और ज्ञान भवन में पार्टी नेताओं के साथ दिनभर बैठक करेंगे।

अमित शाह के कार्यक्रम को अंतिम रूप दे दिया गया है। बापू सभागार में 11.30 बजे से 12.30 बजे तक आयोजित सोशल मीडिया की बैठक में भाग लेंगे। फिर ज्ञान भवन में 12.45 बजे से 1.45 बजे दोपहर तक विस्तारकों की बैठक में भाग लेंगे। ज्ञान भवन में ही वे दोपहर का भोजन करेंगे। दोपहर 2.30 बजे से 3.30 बजे तक शक्ति केंद्र प्रभारियों की बैठक बापू सभागार में होगी। इसके बाद स्टेट गेस्ट हाउस में शाम 4 बजे से 7 बजे तक चुनाव तैयारी समिति की बैठक में भाग लेंगे।

स्टेट गेस्ट हाउस में ही रात्रि विश्राम का कार्यक्रम तय है। अगले दिन 13 जुलाई को सुबह दिल्ली के लिए प्रस्थान कर जायेंगे।
पार्टी ने पटना में उनके भव्य स्वागत की तैयारी की है। पार्टी के तमाम प्रकोष्ठ व मोर्चा की ओर से यह तैयारी की गयी है। पिछले एक सप्ताह से पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में उनके दौरे को लेकर बैठकें चल रही हैं। उनके दौरे को लेकर पूरे पटना में तोरणद्वार बनाए गए हैं। खासकर एयरपोर्ट से गेस्ट हाउस और बापू सभागार तक के रास्ते को होर्डिंग व बैनरों से पाट दिया गया है।
बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय का कहना है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का बिहार दौरा ऐतिहासिक व भव्य होगा। उनके नेतृत्व में बीजेपी देश ही नहीं दुनिया की सबसे बड़ी राजनीतिक संगठन बनी है। यह पार्टी कार्यकर्ताओं के लिए बड़े ही गर्व की बात है। हम उनके स्वागत में कोई कोर कसर बाकी नहीं रहने देना चाहते हैं।’